February 2, 2023

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

कृषि यंत्रों / कृषि रक्षा उपकरणों की बुकिंग शुरु

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन देवरिया

पहले-आओ-पहले पाओ के सिद्धान्त पर प्रस्तावित है योजना

       Nदेवरिया: (उ0प्र0) देवरिया जिले मे उप कृषि निदेशक ने बताया है कि कृषकों हेतु कृषि विभाग उ0प्र0 द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं अन्तर्गत यथा सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर मैकेनाईशन राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन तथा नेशनल मिशन ऑन एडिबिल ऑयल (ऑयलसीड्स) वित्तीय वर्ष 2022-23 में जनपद में विभिन्न कृषि यंत्रों के प्राप्त लक्ष्यों के सापेक्ष शत-प्रतिशत पूर्ति हेतु कृषि यंत्रों को अपने आवश्यकतानुसार मांग / चयन किये जाने का विकल्प ऑनलाईन पोर्टल (upagriculture.com) पर नियत तिथि 09 दिसंबर को पूर्वाह्न 11 बजे से प्रारम्भ किया जायेगा।
जनपद के इच्छुक कृषक अपनी आवश्यकतानुसार निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप उपलब्ध कृषि यंत्रों / कृषि रक्षा उपकरणों की बुकिंग पहले आओ-पहले पाओ के सिद्धान्त पर प्राप्त कर सकेगें। योजनान्तर्गत लक्ष्य के सापेक्ष 100 प्रतिशत तक बुकिंग कर प्रतीक्षा सूची भी तैयार की जायेगी।एक कृषक परिवार (पति अथवा पत्नी में से कोई एक) को एक वित्तीय वर्ष में योजनान्तर्गत उपलब्ध कराये जाने वाले कृषि यन्त्रों में से अधिकतम किसी दो कृषि यन्त्रों हेतु ही अनुदान अनुमन्य होगा। दो कृषि यन्त्रों के अतिरिक्त सम्बन्धित को सिवाय ट्रैक्टर माउण्टेड स्प्रेयर के अन्य कृषि यन्त्र हेतु अनुदान अनुमन्य नही होगा। जिन कृषि यन्त्रों पर अनुदान प्राप्त होगा, उक्त श्रेणी के कृषि यंत्र संबंधित कृषक को आगामी 05 वर्ष पुनः अनुदान हेतु अनुमन्य नही होगे।एक कृषि यन्त्र लेने पर एस.सी. / एस.टी. लघु एवं सीमान्त एवं महिला कृषक हेतु अधिकतम 50 प्रतिशत अनुदान तथा अन्य कृषकों हेतु अधिकतम 40 प्रतिशत तक अनुदान होगा। ऑनलाइन टोकन जनरेट करने के उपरान्त जमानत धनराशि ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन चालान के माध्यम से निर्धारित समय के अन्तर्गत नजदीकी यूनियन बैंक के किसी भी शाखा में निर्धारित जमानत धनराशि जमा करनी होगी। निर्धारित तिथि तक टोकन धनराशि नही जमा करने पर प्रतीक्षा सूची के अगले लाभार्थी का चयन स्वतः हो जायेगा। रू0 10000 तक के अनुदान वाले कृषि यन्त्रों हेतु धनराशि शून्य तथा रू0-10001.00 से अधिक तथा रु0-100000.00 तक के अनुदान वाले कृषि यंत्रों के लिये रू0 2500.00 तथा रू0 100001 से अधिक अनुदान वाले कृषि यंत्रों के लिये रू० -5000.00 जमानत धनराशि देय होगी, टोकन जनरेट होने के उपरान्त पोर्टल पर शो कर रहे बैंक खाते में धनराशि जमा किया जायेगा एवं बैंक को जमा की गयी धनराशि के चलान की छायाप्रति कार्यालय ने जमा किया जायेगा।
योजनान्तर्गत प्राप्त यंत्रों के लक्ष्य के विवरण में उन्होंने बताया है कि पशु चालित, विकल्प साइथ, चैंप कटर, ड्रम सीडर, हस्तचालित स्प्रैयर, इको फ्रेन्डली लाइट ट्रैप, विजेल प्लाऊ, डिस्क प्लाऊ, लेजर लैण्ड लेवलर, पोस्ट होल डीगर, पोटैटो प्लान्टर, पोटैटो डीगर, शुगर केन कटर प्लान्टर, शुगर कम थ्रेस कटर, शुगर केन रेटून मेनेजर, हैरो कल्टीवेटर, रिजर, पावर स्प्रेयर, मल्टी क्रॉप थ्रेसर, पावर चैफ कटर, स्ट्रा रीपर, ब्रस कटर, मिनी राइस मिल मिनी दाल मिल, मिलेट मिल, सोलर ड्रायर, ऑयल मिल विद फिल्टर प्रेस, पैकिंग मशीन, रेज्ड वेड प्लान्टर, ट्रैक्टर माउण्टेड स्पैयर, ब्रिकेट मेकिंग मशीन, यूरिया डीप प्लेसमेन्ट एप्लीकेटर, (ट्रैक्टर आपरेटेड), पावर टीलर, पावर वीडर, राइस ट्रान्सप्लान्टर, डीजल पम्पसेट, सीड ड्रिल / सीड कम फर्टी ड्रिल, स्प्रिंकलर सेट, एच.डी.पी.ई. पाइप, पी.बी.सी पाइप, एच.डी. पी.ई. लेमिनेटेड फ्लैट ट्यूब, स्माल ऑयल एक्ट्रन्शन यूनिट (नीम व महुआ के लिए) इत्यादि यंत्र याजना की निर्धारित लक्ष्य की सीमा तक पहले आओ-पहले पाओ के सिद्धान्त पर यंत्रों तथा उपकरणों का टोकन कन्फर्म कर अनुदान से लाभान्वित किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2022-2023 Top1 India News | Newsphere by AF themes.
Translate »