November 29, 2022

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

प्रभावी होने के लिए हमें होना होगा संगठित-सुभाष

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन ब्यूरो चीफ देवरिया

0 विजयादशमी पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने किया पथ संचलन 0

देवरिया: (उ0प्र0) देवरिया जनपद के भाटपार रानी क्षेत्र मे ‘सदैव विजिगीषु के भाव से भारत की आत्मा ओतप्रोत है। विजय के मूल में शक्ति है, संगठन में शक्ति है, शक्ति एकात्म होने में है। शास्त्र के साथ शस्त्र भी आवश्यक है। हमारे अंदर शौर्य है, साहस है, धैर्य है, शक्ति है। परन्तु जब तक हम संगठित नहीं है तब तक यह हमारी शक्तियां प्रभावी नहीं हो सकती। उक्त बातें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा भाटपार रानी के निर्मल मैरिज हॉल में आयोजित विजयादशमी के अवसर पर पथ संचलन कार्यक्रम के समापन के अवसर का गोरक्ष प्रांत के प्रचारक सुभाष जी ने कहीं।’
उन्होंने आगे कहा कि आत्मशुद्धि के साथ भारत की भलाई के लिए राष्ट्र के लिए समर्पण हमारा लक्ष्य है। आज पूरा विश्व हिन्दुत्व की राह पर है, क्योंकि विश्व कल्याण के एक मात्र आधार हिन्दुत्व ही है। इस दौरान प्रमुख रूप से जिला संघचालक यशवंत, जिला प्रचारक अखिलेश्वर, रामसमुझ, जिला कार्यवाह वेद प्रकाश दूबे, जिला पर्यावरण संयोजक डॉ.अरविंद पांडेय, दिलावर सिंह, रामेश्वर पांडेय, विनोद गुप्ता, गिरिजेश सिंह, विनोद तिवारी, उपेन्द्र तिवारी, हरिओम मिश्रा, आशुतोष, डा.राजेश आदि मौजूद रहे। बौद्धिक के पूर्व नगर के मुख्य मार्गों पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों के द्वारा पथ संचलन निकाला। इस दौरान लोगों ने पुष्प वर्षा कर स्वयंसेवकों का उत्साहवर्धन किया। लगभग तीन हजार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने पथ संचलन में सहभागिता की। निर्मल मैरिज हाल से पथ संचलन शुरू किया जो मालवीय रोड, रतसिया कोठी मोड़, शिव मंदिर मार्ग, स्टेशन रोड, मस्जिद रोड होता हुआ निर्मल मैरिज हाल पहुंचकर समाप्त हुआ। पथ संचलन में स्वयंसेवक घोष की ताल पर कदम से कदम मिलाकर चल रहे थे। पूर्ण गणवेश में स्वयंसेवकों को देखकर पथ संचलन देखने के लिए सड़क के दोनों तरफ जनता खड़ी रही। नगर वासियों द्वारा पथ संचलन पर जगह जगह पुष्पों की वर्षा की तथा स्वयंसेवकों का स्वागत किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2022-2023 Top1 India News | Newsphere by AF themes.
Translate »