December 6, 2022

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

ग्रामीण अभियंत्रण विभाग और ठेकेदार की लापरवाही

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन ब्यूरो चीफ देवरिया

      देवरिया: (उ0प्र0) देवरिया जिले के भागलपुर नगर में जल निकासी की समस्या से ग्रामीणों को निजात दिलाने के लिए प्रदेश सरकार की त्वरित आर्थिक विकास योजना अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2021–22 में 90•220/लाख रुपए की लागत से 0•871 किमी नाली एवं सड़क निर्माण कार्य के लिए ग्रामीण अभियंत्रण विभाग प्रखण्ड देवरिया को जिम्मेदारी दी गई है, लेकिन विभाग और ठेकेदार की लापरवाही का नतीजा यह है कि निर्माण कार्य अधर में लटका हुआ है।
जानकारी के मुताबिक भागलपुर मुख्य बाजार में विद्या सागरसिंह के घर से राजेन्द्र मौर्या का घर होते हुए अमित तिवारी के ट्यूबवेल से होकर भागलपुर अस्पताल मार्ग पर श्याम बिहारी मौर्या के घर तक नाली और सड़क निर्माण कार्य के लिए बजट अवमुक्त हुआ है। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग देवरिया के ठेकेदार द्वारा ग्राम पंचायत की सड़क को बीच से खुदाई कराकर नाली निर्माण का कार्य शुरू किया गया। नाली निर्माण कार्य में विभाग और ठेकेदार की सांठगांठ से ग्राम पंचायत की सड़क की खुदाई में निकाली गई ईंट को नीचे की सतह में बगैर गिट्टी डाले नाली के नीचे सतह पर लगा दिया गया। ग्रामीणों ने विभाग से शिकायत किया कि नाली का निर्माण कार्य में नीचे की सतह पर गिट्टी की कुटाई नहीं कराया गया है, बगैर गिट्टी डाले मानक के विपरीत नाली का निर्माण कार्य कराया गया है,अभी नाली को ढकने का कार्य शुरू नहीं हो सका है। सड़क के बीच में बना खुला नाली मौत को दावत दे रहा है। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत विभाग से कई बार किया लेकिन विभाग शिकायतों पर ध्यान नहीं दे रहा है, और ठेकेदार को घपला करने की खुली छूट दे दिया है। ठेकेदार की मनमानी और विभाग की लापरवाही का आलम यह है कि खुला नाली बरसात में चारों तरफ से कीचड़ और पानी से सराबोर हो गया है। नाली के चारों तरफ फिसलन होने से अनेको लोग फिसल कर घायल हो चुके हैं,इसके बावजूद विभाग और ठेकेदार तमाशाई बन कर ग्रामीणों की लाचारी व बेबसी पर ठहाके लगा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2022-2023 Top1 India News | Newsphere by AF themes.
Translate »