Top1 india news

No. 1 News Portal of India

सीडीओ ने की सोशल आडिट,रोजगार प्रोत्साहन योजना एवं आंगनबाड़ी भवन निर्माण की समीक्षा की

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन जिला ब्यूरो चीफ देवरिया

   देवरिया: (उ0प्र0) देवरिया जिले मे मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार द्वारा सोशल आडिट, बाबा साहब अम्बेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना एवं आंगनबाड़ी भवन निर्माण की वर्चुअल माध्यम से समीक्षा की गई।
सोशल आडिट में ए०टी०आर में सबसे खराब प्रगति विकास खण्ड तरकुलवा एवं गौरीबाजार की पायी गयी। खण्ड विकास अधिकारी तरकुलवा एव गौरीबाजार को निर्देशित किया गया कि दो दिन के अन्दर ऑन लाईन प्रदर्शित हो रहे समस्त ए०टी०आर० को पी०ओ० लॉगिंग पर अपलोड करते हुए हार्ड कापी जिला मुख्यालय को प्रेषित करें।
बाबा साहब अम्बेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना में जिन लाभार्थियों को अनुदान राशि उपलब्ध कराया गया है उनका सत्यापन आख्या विकास खण्डों द्वारा प्रेषित किया जाना है, परन्तु अभी तक विकास खण्ड- रूद्रपुर, भलुअनी, सलेमपुर तथा भटनी का सत्यापन आख्या अप्राप्त है। उक्त विकास खण्डों द्वारा सत्यापन आख्या प्रेषित न करने के कारण संबंधित खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि प्रत्येक दशा में 02 दिन के अन्दर अपने विकास खण्ड पर लम्बित सत्यापन आख्या उपलब्ध करायें अन्यथा लापरवाही मानते हुए कार्यवाही की जायेगी।
वित्तीय वर्ष 2020-21 के 18 अपूर्ण भवनों तथा वित्तीय वर्ष 2021-22 के नव निर्मित होने वाले 13 आंगनबाड़ी केन्द्र भवनों के निर्माण कार्य की समीक्षा की गयी। इसमें पाया गया कि पूर्व में विकास खण्ड भाटपारानी के 3,भागलपुर के 4, भटनी के 2,सलेमपुर के 2,गौरी बाजार के 3, लार के 2,पथरदेवा का 1, तथा देसही देवरिया का 1 आंगनबाड़ी केन्द्र भवन आज भी अपूर्ण है, इसमें आंशिक कार्य अवशेष है। निर्देशित किया गया कि उक्त कार्य अगले सप्ताह में पूर्ण कराते हुए भवनों को तकनीकी जांच के पश्चात बाल विकास विभाग को हैण्ड ओवर कर दिया जाय। इस वित्तीय वर्ष में निर्मित होने वाले 13 भवनों में से विकास खण्ड रूद्रपुर, बनकटा, भाटपार रानी, बरहज, सलेमपुर, देसही देवरिया तथा गौरी बाजार में काम रुका हुआ पाया गया, अन्य स्थानों पर कार्य चल रहा है। सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारीगण को इस सम्बन्ध में कड़े निर्देश दिये गये कि अविलम्ब कार्य कराया जाय जिससे कि बरसात के पहले छत पूर्ण करा दिया जाय जिससे अनावश्यक विलम्ब न हो।
जल जीवन मिशन के योजना में मे०एल०सी० इन्फ्रा प्रा०लि० द्वारा 198 नग परियोजनाओं का कार्य प्रारम्भ करा दिया है एवं मे० गायत्री प्रोजेक्ट लि० द्वारा 84 नग परियोजना का कार्य प्रारम्भ कराया गया है। दोनों संस्थाओं को कड़े निर्देश दिये गये कि 12 पेयजल योजना 30 जून 2022 तक पूर्ण करते हुए संचालित करायें ताकि ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल जलापूर्ति की जा सके। धीमी प्रगति होने के कारण दोनो फर्मों को अधिशासी अभियन्ता जल निगम (ग्रामीण) द्वारा नोटिस जारी करने हेतु निर्देशित किया गया। जनपद देवरिया में कार्यरत 7 आई०एस०ए० (इम्प्लीमेन्ट सपोर्ट एजेन्सी) को ग्रामवासियों से केपेक्स एकाउण्ट शून्य होने के कारण नाराजगी व्यक्त करते हुए इसे बढ़ाये जाने के निर्देश दिये गये।
मनरेगा योजनान्तर्गत वर्ष 2022-23 में कराये जाने वाले वृक्षारोपण की समीक्षा की गयी। ग्राम्य विकास विभाग को आवंटित लक्ष्य 1323840 के सापेक्ष विकास खण्डवार 1327200 का लक्ष्य उपलब्ध कराया गया है। जनपद मे कुल 1409 सार्वजनिक स्थल एवं 1833 व्यक्तिगत स्थल का चयन किया जा चुका है जिसके सापेक्ष सार्वजनिक स्थल की कुल 573 वर्क आई०डी० एवं व्यक्तिगत की कुल 132 वर्क आई०डी० बनायी गयी है। विकास खण्ड भागलपुर, भाटपाररानी, पथरदेवा एवं रामपुर कारखाना द्वारा व्यक्तिगत मे शून्य व सार्वजनिक मे मात्र दो वर्क आई०डी० बनाये जाने पर सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि आज ही लक्ष्य के सापेक्ष चयनित स्थल की वर्क आई०डी० बनाते हुए अग्रिम मृदा कार्य प्रारम्भ कराये। जिससे वर्षाकाल मे वृक्षारोपण कार्य कराया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »