Top1 india news

No. 1 News Portal of India

माह जुलाई में संचालित होने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान की तैयारियों को लेकर हुई जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन

देवरिया: जिले मे माह जुलाई में संचालित होने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान तथा संचारी रोगो व दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण एवं कार्यवाही हेतु विभिन्न विभागो के कार्य दायित्वों के कार्य निर्धारण को लेकर मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी एन की अध्यक्षता में जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न हुई। इस दौरान इस अभियान की सफलता हेतु माइक्रो प्लान/कम्यूनिकेशन प्लान जुडे विभागो को तैयार करते हुए अन्तर्विभागीय समन्वय के साथ इस अभियान की टीमभाव से जुड कर सभी विभागो को कार्य किये जाने के लिये निर्देशित किया गया। यह भी कहा गया कि शासन द्वारा तय समय सारणी अनुसार सभी विभाग अपनी कार्य गतिविधियों को प्रमुखता से संचालित कराये। इसमें किसी भी प्रकार की कोई कोताही न बरती जाये। मुख्य विकास अधिकारी श्री जी एन ने कहा कि अभियान के प्रारम्भ होने के उपरान्त इस बात का ध्यान रखा जाये कि माइक्रो प्लानिंग फार्मेट में तिथिवार एवं क्षेत्रवार गतिविधियां सम्पादित की जाये तथा उसकी मानिटरिंग सुचारु रुप से की जाये। संबंधित विभागो के कार्य दायित्वों को अवगत कराते हुए निर्देश दिया गया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग इस अभियान का नोडल अधिकारी होगा। संचारी रोगो व दिमागी बुखार केसेज की निगरानी,फ्रन्ट लाईन वर्कर द्वारा उपलब्ध करायी गयी लक्षणयुक्त व्यक्तियों की सूची में उल्लिखित रोगियो की लक्षण के अनुसार संचारी रोगो अथवा कोविड रोग हेतु जांच एवं उपचार की व्यवस्था, रोगियों के परिवहन हेतु रोगी वाहन की व्यवस्था, प्रचार-प्रसार एवं व्यवहार परिर्तन गतिविधियां एवं मानिटरिंग, पर्यवेक्षण, रिपोर्टिग, अभिलेखीकरण तथा विश्लेषण व न्यूरो-रिहैविलिटेशन के कार्यो का सम्पादन नोडल विभाग के रुप में करना होगा। नगर निकाय/नागरपालिका व पंचायती राज विभाग तथा ग्राम विकास विभाग अपने कार्य क्षेत्रों अन्तर्गत साफ सफाई, शुद्धपेयजल की उपलब्धता, फागिंग आदि के कार्य सुनिश्चित करायेगे। ग्रामीण क्षेत्रो में मनरेगा फण्ड से एन्टिलार्वा का छिडकाव, झाडियों के काटछाट के कार्य सुनिश्चित किये जायेगें। पशुपालन विभाग द्वारा सुकर पशुपालकों को इसके लिये प्रोत्साहित करते हुए उन्हे अन्य व्यवसाय करने हेतु जागरुक व प्रेरित किया जायेगा। इसके अतिरिक्त सुकरपालको पर वेक्टर नियंत्रण एवं सीरो सर्विलेन्स की व्यवस्था सुनिश्चित करना होगा। यथासंभव सुकरवार्डे आबादी से दूर रखे जाये। बाल विकास विभाग द्वारा आगनवाडी कार्यकर्तियों को संचारी रोगो एवं दिमागी बुखार हेतु प्रशिक्षण प्रदान कर संवेदीकरण किया जायेगा। टीकाकरण के साथ साथ कुपोषित बच्चो का चिन्हिकरण व पोषाहार वितरण का कार्य किया जायेगा। आशा कार्यकर्ती द्वारा संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान हेतु समस्त गतिविधियों में सहयोग प्रदान की जायेगी।
शिक्षा विभाग द्वारा संवेदीकरण, विशेष कर सुरक्षित पीने का पानी, शौचालय का प्रयोग, खुले में शौच के नुकसान पर विषयक क्या करे क्या न करें की जानकारियां अभिभावको, शिक्षिकों का व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर दिये जायेगें। इसके साथ ही विद्यालय से जुडे कार्यक्रमों में संचारी रोग के राकथाम हेतु संवेदीकरण कार्यो का प्रमुखता से प्रदर्शन व जागरुक करने का कार्य किया जायेगा। दिव्यांगजन विभाग द्वारा एईस/जेई रोग के उपरान्त दिव्यांग बच्चो का सर्वे एवं उन्हे आवश्यक सहायक उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी। कृषि एवं सिचाई विभाग एकत्र हुए पानी में मच्छरों के प्रजनन आदि वेक्टररोधी कार्यो को किया जायेगा। उद्यान विभाग की जिम्मेदारी होगी कि वे मच्छर विकर्षी पौधो का रोपण सुनिश्चित करायेगें। मत्स्य विभाग गम्बूजिया मछली तालाबो में डलवाने का कार्य करेगें। जलजमाव, नालियों आदि में एन्टिलार्वा व फागिंग के कार्य प्रमुखता से किये जायेगें। माह जुलाई में संचारी रोग अभियान तथा 12 से 25 जुलाई के मध्य दस्तक अभियान संचालित किया जायेगा। सभी जुडे विभागो को अपने कार्य दायित्वों को तय समय सारणी के अनुसार निर्वहन किये जाने का निर्देश दिया गया। कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत माह जुलाई से निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति ओर सीएमओ कार्यालय में सभी चिकित्साधिकारियो, प्रभारी चिकित्साधिकारियों को प्रशिक्षित करते हुए उन्हे भी इस अभियान के सफलता के लिये विस्तृत कार्य योजना को तैयार करते हुए उस अनुसार कार्य किये जाने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी डा आलोक पाण्डेय द्वारा दिया गया। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के लिये विकास खंड को इकाई के रुप में तथा शहरी क्षेत्र में शहरी इकाई के रुप में, इन इकाइयों का क्लस्टर में विभाजित कर वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा। प्रशिक्षण में यह बताया गया कि आवंटित क्लस्टरों में वैक्सीनेशन हेतु अनुकूल वातारण तैयार करते हुए प्रत्येक राजस्व ग्रामों में मोबिलाइजेशन टीम का गठन किया जायेगा, जिसमें ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा एवं आंगनवाडी वर्कर, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, पंचायत सेकेट्री एवं युवक मंगल दल/महिला मंगल दल के सदस्य होगें। इस दौरान सभी को निर्देश दिया गया कि टीकाकरण अभियान के तहत निर्धारित लक्ष्य के प्रति कार्य योजना के अनुरुप कार्यवाही सुनिश्चित करेगें। बैठक में एसीएमओ डा सुरेन्द्र सिंह, डिप्टी सीएमओ डा वी पी सिंह, जिला क्षय रोग अधिकारी डा वी झा, जिला मलेरिया अधिकारी एस पी त्रिपाठी, डबलू एच ओ के डा सागर, यूनिसेफ के डा हसन फहीव, डीसीपीएम राजेश गुप्ता, डा एस के पाण्डेय, सुधाकर मणि, डीपीआरओ आनंद प्रकाश, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी मीनू सिंह, अधिशासी अधिकारी नगरपालिका रोहित सिंह एवं प्रभारी चिकित्साधिकारी गण सहित अन्य संबंधित विभागो के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »