November 29, 2022

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

सरयू नदी के उफान पर होने से सैकड़ों गांवों में बाढ़

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन ब्यूरो चीफ देवरिया

        देवरिया: (उ0प्र0) देवरिया जिले के बरहज थाना क्षेत्र मे लगातार सरयू नदी के उफान पर होने से सैकड़ों गांवों में बाढ़ का पानी आ जाने से गांव तालाब बन चुके हैं। सरयू नदी लगातार उफान पर हैं। प्रशासन के द्वारा गांव में राहत एवं बचाव की सामग्री भी भिजवाई जा रही है। जबकि ज्यादातर गांवों में प्रशासन के लोग स्थिति को देखने तक नहीं गए हैं।शुक्रवार को लगातार सरयू नदी उफान पर होने से परसिया देवार, बिशुनपुर देवार, राम जानकी मार्ग से सटे गांव कटईलवा, बेलड़ाड, कापरवार, राजपूतों का टोला सहित विकासखंड भागलपुर के राम जानकी मार्ग होते हुए सलेमपुर को जोड़ने वाली मुख्य सड़क पूर्ण रूप से जलमग्न हो चुकी है। गांव के लोग अन्न के एक-एक दाने के लिए तरस रहे हैं ग्रामसभा देऊबारी, बढ़ौना हर्दो, अकुआ, पिपरा भूली, कटियारी तेलिया कला, डुमरिया कोल, सहित सैकड़ों गांव बाढ़ के पानी गांव में हो जाने से तालाब बना हुआ है।
बंधा टूटने से दसरसरिया टोला, भर टोला, चौधरी टोला, बाबू लोग का टोला, कमकर टोला, नकीहवा टोला, छोटा भर टोला के करीब 200 घरों में पानी घुस गया है। यह बंधा नदी पार कर दियारा में पहुंचने पर करीब 500 मीटर आगे मिलता है। जो सूरजपुर जाता है। यह बंधा पूरे गांव की रक्षा करता है। इस बंधे पर करीब दो किमी तक बाढ़ का पानी ओवरफ्लो हो रहा है। बंधा टूटने से पंचायत भवन में घुटने भर पानी लगा है। प्रभावित घरों के लोग अपने छत की शरण लिए हैं। कुछ लोग दूसरे के घरों का सहारा लिए हैं। जल भराव के चलते बंधा पर शरण लेने की जगह नहीं है।वहीं, राप्ती का जलस्तर भी खतरे के निशान के ऊपर चला गया है।वहीं पिड़रा पुल का एप्रोच और सड़क कटने से बाधित रास्ते के बहाल होने के आसार नहीं दिख रहे हैं।कटान रोकने के लिए पेड़ की टहनियों का सहारा लिया जा रहा है।राप्ती और गोर्रा नदी का जलस्तर बढ़ने से इनकी सहायक नदियां कुरना, बथुआ और मझने नाला में भी बाढ़ आ गई है। इन नदियों के पानी से किसानों की सैकड़ों एकड़ फसल बर्बाद हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2022-2023 Top1 India News | Newsphere by AF themes.
Translate »