August 11, 2022

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

सभी उपजिलाधिकारी अपने-अपने तहसीलों में बाढ़ चौकी प्रभारियों के साथ कर लें बैठक- जिलाधिकारी सम्भावित बाढ़ से बचाव हेतु सभी व्यवस्थाएं की जाय चुस्त-दुरूस्त- डीएम

1 min read

ब्यूरो रिपोर्ट नफीस अहमद खान

श्रावस्ती 25 जून 2020

सभी उपजिलाधिकारी अपने-अपने तहसीलों में बाढ़ चौकी प्रभारियों के साथ बैठक कर लें, बैठक के दौरान जो समस्याएं आती है उनका भी निदान सुनिश्चित करें। यदि कोई ऐसी समस्या है जिसका निराकरण तहसील स्तर से सम्भव नही है तो सम्बंधित समस्या को संज्ञान में लावें ताकि उनका निराकरण किया जा सके। सम्भावित बाढ़ से बचाव हेतु सभी व्यवस्थाएं चुस्त-दुरूस्त कर ली जाय, ताकि यदि बाढ़ भी आ जाती है तो राहत एवं बचाव कार्य हेतु कोई दिक्कत न होने पावें और तत्काल बाढ़ ग्रस्त लोगों एवं उनके मवेसियों को राहत दी जा सके। ताकि सम्भावित बाढ़ आने के दौरान लोगों को तत्काल सुरक्षा एवं राहत मुहैया कराया जा सकें।

उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में बाढ़ चौकीयों पर तैनात किये गये चौकी प्रभारियों, नोडल अधिकारियों एवं बाढ़ एवं राहत कार्य से जुडे विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करने के दौरान जिलाधिकारी सुश्री यशु रूस्तगी ने दिया है। उन्होंने जोर देते हुए कहा है कि सम्भावित बाढ़ से बचाव एवं राहत कार्य के लिए शासन के निर्देश के अनुपालन में जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है इसलिए बाढ़ एवं राहत कार्य में लगाये गये सभी विभागीय अधिकारियों का दायित्व बनता है कि वे बाढ़ आपदा आने पर सेवा भाव के रूप में बाढ़ पीडितों की सहायता करने में अपनी सहभागिता निभाएं। ताकि यदि बाढ़ भी आ जाती है तो  उन्हें तत्काल राहत एवं सुरक्षा प्रदान किया जा सके।
जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियन्ता बाढ़ कार्य खण्ड एवं अधिशाषी अभियन्ता सरयू नहर खण्ड-06 को निर्देश दिया है कि लक्ष्मनपुर बैराज पर खतरें के निशान के ऊपर किस स्तर पर कितने गाॅव प्रभावित होने की सम्भावना रहती है उसकी रिपोर्ट भी बना कर प्रस्तुत करें। उन्होंने जिला पंचायतराज अधिकारी को निर्देश दिया है कि जिन ग्राम पंचायतों में नाव की आवश्यकता है और अभी तक नाव की खरीद दारी ग्राम पंचायतों द्वारा नही की गयी है उन ग्राम पंचायतों का चिन्हीकरण करके तत्काल नाव की खरीद दारी कर ली जाय ताकि  यदि बाढ़ भी आ जाती है तो गाॅव वालों को तत्काल गाॅव से बाढ़ शरणालय में पहुॅचाने तथा उनके आवागमन में भी कोई दिक्कत न होने पावें। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि अभी भी जिन-जिन हैण्डपम्पों के प्लेट फार्मो को उच्चीकृत करना है उन्हें युद्ध स्तर पर कार्य कराकर उच्चीकृत कर दिया जाय। ताकि सम्भावित बाढ़ के दौरान लोगों को पेय जल की कोई दिक्कत न होने पावें। उन्होंने अधिशाषी अभियन्ता विद्युत को निर्देश दिया कि सम्भावित बाढ़ आने पर जिन-जिन मजरों में पानी भरने की सम्भावना है या भर जाता है तो तत्काल सम्बंधित क्षेत्र के उपजिलाधिकारी से सम्पर्क कर उन गाॅवों की सूची लेकर विद्युत सप्लाई तुरन्त बाधित कर दिया जाय।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय, अपर जिलाधिकारी योगानन्द पाण्डेय, अपर पुलिस अधीक्षक बी0सी0 दूबे, नोडल अधिकारी क्रमशः प्रभागीय वनाधिकारी ए0पी0 यादव, सहायक महानिरीक्षक निबंधन पी0एन0सिंह, उपजिलाधिकारी जे0पी0 चौहान,    उपजिलाधिकारी क्रमशः भिनगा, इकौना, जमुनहा, जिला विकास अधिकारी विनय कुमार तिवारी,  परियोजना निदेशक बाल गोविन्द शुक्ल, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 मुकेश मातन हेलिया, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी नरेन्द्र कुशवाहा, कमान्डेट होम गार्ड संतोष कुमार सहित सभी चौकी प्रभारीगण एवं सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टॉप वन इंडिया न्यूज़ चैनल श्रावस्ती उत्तर प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright ©2022-2023 Top1 India News | Newsphere by AF themes.
Translate »